चंद्रशेखर आजाद

FACT CHECK: क्या भीम आर्मी के चंंद्रशेखर आजाद ने ‘भारत को जलाने’ की बात कही थी?

हम आपको कई बार हमारी खबरों के माध्यम से बता चुके हैं कि फेक न्यूज के फेर में मेनस्ट्रीम मीडिया भी फंस जाता है. कई बार खुद मेनस्ट्रीम मीडिया भी फेक न्यूज फैलाने में आगे रहता है. इसका ताजा उदाहरण भीम आर्मी के चंद्रशेखर आजाद से जुड़ा है. जी न्यूज और न्यूज 18 ने चंद्रशेखर से जुड़ी एक खबर छापी थी. इस खबर में न्यूज 18 और जी ने आजाद केे बयान को हेडलाइन बनाते हुए खबर छापी थी. दोनों की हेडलाइन कुछ इस तरह थी, ‘रावण की सरकार को धमकी- हम भारत को बंद करना जानते हैं तो भारत को जलाना भी जानते हैं.’

चंद्रशेखर आजाद

चंद्रशेखर आजाद

क्या सच में चंद्रशेखर आजाद ने ऐसा बयान दिया था?

इन खबर के पब्लिश होते ही लोगों की इस पर नजर पड़ी और उन्होंने इन चैनलों को उनकी इस गलती की ओर ध्यान दिलाना शुरू कर दिया.

असल में चंद्रशेखर आजाद ने अपने भाषण में कहीं भी ‘भारत को जलाने’ की बात नहीं कही थे, जैसा ये दोनों चैनल दावा कर रहे थे. उन्होंने अपने भाषण में कहा था, ‘जितनी भीड़ यहां खड़ी है, उसे सिर्फ एक बार मेरे इशारे का इंतजार है. अगर हम भारत बंद करना जानते हैं, तो हम भारत को जलाना भी जानते हैं. हमारे सब्र का इम्तिहान नहीं लिया जाए, एक सीमा होती है उत्पीड़न की भी’ उनका यह बयान आप नीचे दिए गए वीडियो में 1.35 सेकंड पर सुन सकते हैं.

खुद चंद्रशेखर ने भी इस बारे में ट्वीट किया है. उनके ये ट्वीट आप नीचे देख सकते हैं.

हालांकि, बाद में जी न्यूज और न्यूज 18 ने इस खबर को बदल दिया था. अब दोनों खबरों की जगह चंद्रशेखर आजाद से ही जुड़ी दूसरी खबरें खुल रही हैं, लेकिन फेक न्यूज फैलाने से होने वाला नुकसान हो चुका है. मेनस्ट्रीम मीडिया को फैक्ट चेकिंग पर खास ध्यान देना चाहिए। खास तौर पर जब इतने बड़े बयान की बात हो रही हो तब.

ये भी पढ़ें-

फर्जी ट्विटर हैंडल के फेर में फंसे फिल्म डायरेक्टर अविनाश दास, शेयर की फेक न्यूज

क्या बुर्ज खलीफा पर राहुल गांधी की फोटो दिखाई गई थी? क्या है वायरल दावे की सच्चाई

अरविंद केजरीवाल के पोर्न वीडियो देखने के दावे की हकीकत क्या है? यहां जानिये पूरी कहानी

क्या तुर्की ने पीएम मोदी को सबसे महान नेता बताते हुए उनके सम्मान में टिकट जारी किया है?

Posted in Fake News and tagged , , , , , , , , , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *