क्या नसीरुद्दीन शाह के घर ED का छापा पड़ा है? जानिये वायरल मैसेज की असलियत

दिग्गज फिल्म अभिनेता नसीरुद्दीन शाह कुछ दिन पहले अपने बयानों को लेकर चर्चा में थे. एक इंटरव्यू में कही गई उनकी बातों के कारण काफी विवाद छिड़ा था. अब एक बार फिर सोशल मीडिया पर उनसे जुड़ी एक खबर शेयर की जा रही है. ट्वीटर पर हमें कई ट्वीट मिले, जिनमें लिखा गया है कि नसीरुद्दीन शाह के घर प्रवर्तन निदेशालय (ED) का छापा पड़ा है और 36 करोड़ की बेनामी नकदी जब्त हुई है. आप इससे जुड़े ट्वीट नीचे देख सकते हैं-

https://twitter.com/RajendraRai1234/status/1084031142838194177

https://twitter.com/PrinceOfIdol/status/1083665852098961408

https://twitter.com/AecoraiHari/status/1083460832929865728

क्या नसीरुद्दीन शाह के घर ED का छापा पड़ा है?

ट्वीटर पर आए कई ट्वीट देखने के बाद हमें पता चला कि इन सब ट्वीट में एक लाइन कॉमन है. इन सब ट्वीट में लिखा है, ‘नसीरुद्दीन शाह के यहां ED का छापा 36 करोड़ की बेनामी नकदी जप्त’ लगभग हर ट्वीट में यह बात लिखी गई है, जो इस ओर इशारा करती है कि एक खास मकसद और एक योजना के तहत ये ट्वीट किए जा रहे हैं. दूसरी बात यह है कि इन ट्वीट में इस जानकारी का कोई सोर्स नहीं बताया गया है और ना ही किसी खबर का लिंक दिया गया है.

क्या दुबई में 14 साल की बच्ची के सवालों का जबाव नहीं दे पाए राहुल गांधी?

इसलिए हमें यह दावा संदेहास्पद लगा. इसके बाद हमने गूगल पर सर्च किया क्या सच में ऐसा हुआ है. गूगल पर हमें नसीरुद्दीन के घर छापा पड़ने से जुड़ी कोई खबर नहीं मिली. जाहिर है जब ED ने छापा मारा ही नहीं है तो कहीं खबर नहीं छपेगी. नसीरुद्दीन पिछले कुछ दिनों से चर्चा में है और मीडिया ने भी उनके बयान के मामले को खूब कवर किया था, ऐसे में अगर नसीरूद्दीन शाह के घर छापा पड़ता है तो मीडिया यह भी कवर करता.

इस मैसेज का सच

ट्वीटर पर किए जा रहे इन ट्वीट की पड़ताल करने पर पता चलता है कि ये सारे ट्वीट फर्जी है. इसमें कही गई बात निराधार और फेक न्यूज है. एक खास मकसद और योजना के तहत इस फेक न्यूज को फैलाया जा रहा है. हम आपसे अपील करते हैं कि इस फेक न्यूज पर भरोसा ना करें.

हमारी अपील

हमारी आपसे अपील है कि सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही फेक न्यूज के झांसे में ना आए. सोशल मीडिया बेवफा है इसलिए इस पर आई हर खबर को सच ना माने. किसी भी खबर पर भरोसा करने या शेयर करने से पहले उसे दूसरे सोर्स से वेरिफाई जरूर करें. फेक न्यूज समाज में नफरत और झूठ फैला रही है. यह हमारे समाज और देश के लिए खतरनाक है. इससे खुद भी बचाएं और अपने जानने वालों को भी बचाएं.

ये भी पढ़ें-

क्या बुर्ज खलीफा पर राहुल गांधी की फोटो दिखाई गई थी? क्या है वायरल दावे की सच्चाई

अरविंद केजरीवाल के पोर्न वीडियो देखने के दावे की हकीकत क्या है? यहां जानिये पूरी कहानी

क्या तुर्की ने पीएम मोदी को सबसे महान नेता बताते हुए उनके सम्मान में टिकट जारी किया है?

Posted in Fake News and tagged , , , , , , , , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *