पप्पू

FACT CHECK: क्या गल्फ न्यूज ने राहुल गांधी को अपनी खबर में पप्पू बताया है?

कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी हाल ही में संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के दौरे से लौटे हैं. उनके इस दौरे को लेकर सोशल मीडिया में खूब फेक न्यूज शेयर की गई थी. उनके दौरे से पहले एक फेक न्यूज हो रही थी, जिसमें कहा गया था दुबई के मशहूर बुर्ज खलीफा पर राहुल गांधी की फोटो लगाई गई है. अब उनके दौरे के बाद एक और न्यूज वायरल हो रही है. इसमें दावा किया गया है कि यूएई के अखबार ‘गल्फ न्यूज’ ने राहुल गांधी को पप्पू बताया है. यह दावा कई ऐसे ट्वीटर हैंडल से किया गया जो लगातार फेक न्यूज फैलाते रहते हैं. देखिये कुछ ऐसे ट्वीट-

https://twitter.com/isunil1992/status/1085944716536020993

https://twitter.com/OfficialRajiv1/status/1085044633124581377

क्योंकि कई फेक न्यूज फैलाने वाले ट्वीटर हैंडल से इस बारे में ट्वीट किया गया है कि इसलिए हमने इस दावे की सच्चाई जानने की कोशिश की. हमने इस खबर की पड़ताल की कि क्या गल्फ न्यूज ने राहुल गांधी को पप्पू बताया है, जैसा इन ट्वीट में दावा किया जा रहा है.

क्या गल्फ न्यूज ने राहुल गांधी को पप्पू बताया है?

हमारी पड़ताल में हमें बीबीसी की एक रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट के अनुसार, राहुल गांधी ने दौरे की समाप्ति के समय गल्फ न्यूज को इंटरव्यू दिया था. इस इंटरव्यू के साथ अखबार ने राहुल का कार्टून भी छापा था. इस कार्टून पर लिखा था ‘हाउ पप्पू लेबल चेंज्ड राहुल’ यानी पप्पू लेबल ने राहुल गांधी को कैसे बदला. असल में अखबार ने यह हैडिंग राहुल के बयान में से ही निकाल कर दी है.

क्या नसीरुद्दीन शाह के घर ED का छापा पड़ा है? जानिये वायरल मैसेज की असलियत

अखबार ने इंटरव्यू में राहुल से पूछा था कि पप्पू लेबल के बारे में सवाल पूछा था. दरअसल, राहुल को भाजपा के कई नेता समेत पप्पू सरनेम से संबोधित करते हैं. इसलिए राहुल से यह पूछा गया था. इसके जवाब में राहुल ने कहा, ‘सबसे अच्छा गिफ्ट जो मुझे मिला वो है 2014. जितना मैंने 2014 से सीखा है, उतना अपने जीवन में किसी चीज से नहीं सीखा. मेरा विरोध करने वाले लोग परिस्थितियों को मेरे लिए जितना मुश्किल बनाएंगे, मेरे लिए उतना ही फायदेमंद है. जब वो मुझे पप्पू कहते हैं तो मैं उससे परेशान नहीं होता. मैं अपने विरोधियों के हमलों का सम्मान करता हूं और उससे ख़ुद में सुधार करता हूं.’

जाहिर तौर पर अखबार ने राहुल गांधी को पप्पू नाम से संबोधित नहीं किया है. उन्होंने राहुल से इस बारे में सवाल पूछा था, जिसके जवाब में राहुल ने यह बात कही है. सोशल मीडिया पर गलत संदर्भ के साथ इस न्यूज के वायरल होने के बाद गल्फ न्यूज ने सफाई पेश की है. अपने बयान में अखबार ने कहा कि उन्होंने अपने इंटरव्यू की हैडिंग से राहुल गांधी का अपमान करने की कोशिश नहीं की है. अख़बार की हैडिंग को राहुल गांधी की बेइज्ज़ती से जोड़ना ग़लत है.

क्या है इसका सच?

यह बात सच है कि गल्फ न्यूज ने राहुल गांधी वाली खबर में पप्पू वाली हैडिंग इस्तेमाल किया है, लेकिन उन्होंने राहुल गांधी को पप्पू नहीं बताया था. सोशल मीडिया पर गलत संदर्भ में खबर वायरल हो रही है.

हमारी अपील

हमारी आपसे अपील है कि सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही फेक न्यूज के झांसे में ना आए. सोशल मीडिया बेवफा है इसलिए इस पर आई हर खबर को सच ना माने. किसी भी खबर पर भरोसा करने या शेयर करने से पहले उसे दूसरे सोर्स से वेरिफाई जरूर करें. फेक न्यूज समाज में नफरत और झूठ फैला रही है. यह हमारे समाज और देश के लिए खतरनाक है. इससे खुद भी बचाएं और अपने जानने वालों को भी बचाएं.

ये भी पढ़ें-

क्या बुर्ज खलीफा पर राहुल गांधी की फोटो दिखाई गई थी? क्या है वायरल दावे की सच्चाई

अरविंद केजरीवाल के पोर्न वीडियो देखने के दावे की हकीकत क्या है? यहां जानिये पूरी कहानी

क्या तुर्की ने पीएम मोदी को सबसे महान नेता बताते हुए उनके सम्मान में टिकट जारी किया है?

Posted in Fake News.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *