योगी आदित्यनाथ ने पश्चिम बंगाल में हेलिकॉप्टर से नहीं ली एंट्री, शेयर हो रहा पुराना वीडियो

हाल ही में योगी आदित्यनाथ ने पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में एक रैली की थी. इस रैली के लिए योगी सड़क मार्ग से पश्चिम बंगाल गए थे. दरअसल, पश्चिम बंगाल सरकार ने योगी के हेलिकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं दी थी, जिसके बाद योगी आदित्यनाथ को सड़क से पश्चिम बंगाल जाना पड़ा था.

योगी

अब फेसबुक पर एक वीडियो शेयर किया जा रहा है. इस वीडियो में योगी आदित्यनाथ को हेलिकॉप्टर से उतरकर गाड़ी में जाते हुए दिखाया जा रहा है. वीडियो के डिस्क्रिप्शन में लिखा है, ‘बंगाल में योगी आदित्यनाथ की हेलीकॉप्टर एंट्री’ इस वीडियो को बुधवार को पोस्ट किया गया था और यह खबर लिखे जाने तक इसे 2900 से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका है. आप यह वीडियो देखिये, फिर इसकी पड़ताल करते हैं.

बंगाल में योगी आदित्यनाथ की हेलीकॉप्टर एंट्री

ममता के बंगाल में योगी आदित्यनाथ की हेलीकॉप्टर एंट्री

Posted by Amit Shah Fans on Wednesday, February 6, 2019

इस वीडियो में देखा जा सकता है कि योगी हेलिकॉप्टर से उतर एंबेसडर कार में बैठते हैं और रैली के लिए निकल जाते हैं. इस वीडियो को बंगाल का बताया जा रहा है, लेकिन क्या यह वीडियो बंगाल में योगी की एंट्री का है? आइये इसकी पड़ताल करते हैं.

इस वीडियो की पड़ताल

वीडियो में देखने पर पता चलता है यह वीडियो पश्चिम बंगाल का न होकर त्रिपुरा का है. दरअसल, योगी जिस एंबेसडर कार में बैठकर जाते हैं उसके नंबर ‘TR’ से शुरू होते हैं, जिसका मतलब है कि यह गाड़ी त्रिपुरा की है. इसके अलावा योगी के काफिले में चलने वाली पुलिस जिप्सी पर त्रिपुरा पुलिस लिखा हुआ है. इन सब बातों से पता चलता है कि यह वीडियो त्रिपुरा का है.

फेक न्यूज के मामले में दुनियाभर में पहले नंबर पर भारत, आम चुनाव से पहले खतरे की घंटी

इसके अलावा यूट्यूब पर ‘योगी आदित्यनाथ हेलिकॉप्टर त्रिपुरा’ सर्च करने पर असली वीडियो सामने आता है. इस वीडियो का टाइटल ‘योगी आदित्यनाथ इन कंचनपुर’ लिखा है. यह वीडियो 12 फरवरी 2018 को अपलोड किया गया था. इसे आप नीचे देख सकते हैं.

जाहिर तौर पर जब यह वीडियो एक साल पहले अपलोड हो चुका है तो यह पश्चिम बंगाल में योगी की एंट्री का वीडियो नहीं हो सकता.

क्या है वीडियो की सच्चाई

हमारी पड़ताल में पता चला है कि योगी आदित्यनाथ का यह वीडियो लगभग एक साल पुराना है और यह पश्चिम बंगाल का न होकर त्रिपुरा का है. हमारी पड़ताल में यह साबित हुआ है कि यह वीडियो असली है, लेकिन इसके साथ दी जा रही जानकारी गलत है.

सोशल मीडिया पर चल रही फेक न्यूज को लेकर हमारी अपील

सोशल मीडिया पर इन दिनों जमकर फेक न्यूज शेयर की जा रही है. जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आते जाएंगे, वैसे-वैसे फेक न्यूज बढ़ती जाएगी. एक जागरूक नागरिक होने के नाते आपकी जिम्मेदारी बनती है कि आप फेक न्यूज को फैलने से रोके. इसके लिए अगर आपके पास कोई भी न्यूज आती है तो उस पर आंख मूंदकर भरोसा ना करें. सोशल मीडिया बेवफा है इसलिए इस पर आई हर खबर को सच ना माने. किसी भी खबर पर भरोसा करने या शेयर करने से पहले उसे दूसरे सोर्स से वेरिफाई जरूर करें. फर्जी खबरें समाज में नफरत और झूठ फैला रही है. यह हमारे समाज और देश के लिए खतरनाक है. इससे खुद भी बचें और अपने जानने वालों को भी बचाएं.

ये भी पढ़ें-

क्या बुर्ज खलीफा पर राहुल गांधी की फोटो दिखाई गई थी? क्या है वायरल दावे की सच्चाई

अरविंद केजरीवाल के पोर्न वीडियो देखने के दावे की हकीकत क्या है? यहां जानिये पूरी कहानी

क्या तुर्की ने पीएम मोदी को सबसे महान नेता बताते हुए उनके सम्मान में टिकट जारी किया है?

Posted in Fake News and tagged , , , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *