क्या देश की राजधानी दिल्ली में 8 साल के बच्चे की मॉब लिंचिंग में हुई मौत?

दिल्ली के मालवीय नगर में खेलने को लेकर हुए विवाद में 8 वर्षीय नाबालिग बच्चे की मौत हो गई. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ने बताया कि गुरुवार को क्रिकेट खेलने को लेकर हुए विवाद में नाबालिगों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी. मृतक की पहचान मुहम्मद अजीम नाम के एक बच्चे के तौर पर हुई है. अजीम मेवात के रीछड़ गांव का रहने वाला था. पुलिस ने नाबालिग आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

8 साल के बच्चे की मॉब लिंचिंग

न्यूज 18 की खबर के मुताबिक, पुलिस अधिकारी ने कहा, “मदरसे के बाहर एक खाली जगह है जहां स्थानीय लड़के क्रिकेट खेलते हैं. दोनों समूहों के बीच तनाव तब पैदा हुआ जब मदरसे में पढ़ने वाले छात्रों ने सुबह के वक्त क्रिकेट खेलने को लेकर आपत्ति की. स्थानीय लड़कों ने कथित तौर पर मदरसे में बोतल फेंकी.”

पुलिस ने बताया कि गुरुवार सुबह को घटना हिंसा में बदल गई जिसमें आठ वर्षीय छात्र को चोट आई. प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि लड़ाई के बाद आठ वर्षीय छात्र जमीन पर गिर गया जिसे पास के अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

सोशल मीडिया पर बताया जा रहा मॉब लिंचिंग

इस घटना को अब सांप्रदायिक रंग देने की कोशिशें शुरू हो गई है. फेसबुक पर इमरान प्रतापगढ़ी ने इसे लेकर एक पोस्ट लिखी है. इसका स्क्रीनशॉट आप नीचे देख सकते हैं-

8 साल के बच्चे की मॉब लिंचिंग

यह खबर लिखे जाने तक इस पोस्ट को 3.6 हजार से ज्यादा लाइक्स और 1600 से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका था. इस पोस्ट में अजीम की मौत की मॉब लिंचिंग बताई जा रही है. पोस्ट में कहा गया है, ‘एक मदरसे के बच्चे को भीड ने पीट पीट कर मार दिया, ये मॉब लिंचिंग नहीं है बल्कि मोबलाइज़ लिंचिंग है !’

वहीं पुलिस ने मॉब लिंचिग की घटना से इनकार किया है. पुलिस का कहना है कि ये लड़कों की आपसी लड़ाई थी. न कि किसी भीड़ के हाथों पीटकर मारे जाने की. पुलिस ने इस घटना को लेकर मामला दर्ज कर लिया है और जांच जारी है.

ये भी पढ़ें-

क्या नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने कहा था, RSS और हिंदू महासभा गद्दार हैं?

ALERT : शेयर हो रही है भारतीय सैनिक द्वारा कश्मीरी युवक के जूते चुराने की फेक न्यूज

Posted in Trending and tagged , , , , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *