अशोक गहलोत

FACT CHECK: क्या अशोक गहलोत ने कहा है कि कांग्रेस सरकार का अंत होना निश्चित है?

फेसबुक और ट्विटर पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में वे कहते हुए सुनाई दे रहे हैं, ‘UPA गवर्नमेंट का अंत होना तो निश्चित हैं’ इस वीडियो में गहलोत पत्रकारों के साथ बात कर रहे हैं और दो बार UPA गवर्नमेंट का अंत होना तो निश्चित है बोलते हुए सुनाई दे रहे हैं. भाजपा आईटी सेल के मुखिया अमित मालवीय समेत कई लोगों और कई फेसबुक पेज पर यह वीडियो शेयर किया गया है. देखिये इससे जुड़ी ट्वीट और फेसबुक पोस्ट-

जब अशोक गहलोत सच बोलते हैं ….

जब अशोक गहलोत सच बोलते हैं ….

Posted by Social Tamasha on Monday, January 7, 2019

यह वीडियो महज चंद सेकंड का है और इसे ऐसे लोगों और फेसबुक पेज पर शेयर किया गया है जो पहले फेक न्यूज फैलाते रहे हैं. इसलिए हमने इस वीडियो की सच्चाई जाननी चाही. हमने पड़ताल की क्या अशोक गहलोत ने ऐसा कहा है और क्या यह वीडियो असली है.

हमारी पड़ताल

हमारी पड़ताल में पता चला कि अशोक गहलोत ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि UPA गवर्नमेंट का अंत होना निश्चित है. हमारी पड़ताल में हमें इनाडु इंडिया राजस्थान का एक वीडियो मिला. इस वीडियो में अशोक गहलोत की यह पूरी बात सुनाई दे रही है. हालांकि, शुुरुआत में उन्होंने यह कहा था कि UPA सरकार का अंत होना निश्चित है, लेकिन यह उनका मतलब नहीं था. वे NDA बोलना चाह रहे थे और उन्हें अपनी गलती का अहसास भी हो गया. उन्होंने बाद में इसे सुधारा भी.

वीडियो के अंंत में वे महागठबंधन की सफलता और केंद्र में मौजूद वर्तमान सरकार के जाने की बात कहते हुए सुने जा सकते हैं. इस वीडियो को आप नीचे देख सकते हैं.

क्या है UPA और NDA

भारतीय राजनीति में दो मोर्चे प्रमुख हैं- UPA और NDA. चुनावों के समय हर बार तीसरा मोर्चा भी सिर उठा लेता है. UPA का नेतृत्व कांग्रेस करती है जबकि NDA का नेतृत्व भाजपा के पास है. UPA ने 2004-2014 तक 10 साल अपनी सरकार चलाई थी, जबकि 2014 से NDA सरकार सत्ता में है.

बांग्लादेश के वीडियो को बंगाल का बताकर फैलाई जा रही है फेक न्यूज

वायरल वीडियो का सच

वायरल वीडियो की पड़ताल करने पर पता चलता है कि अशोक गहलोत ने ऐसा बोला है कि UPA सरकार का अंत होना निश्चित है, लेकिन यह उनका मतलब नहीं था. उन्होंने बाद में अपनी इस गलती को सुधारा भी और UPA की जगह NDA बोलकर अपनी बात पूरी की. हमारी पड़ताल में यह पता चला है कि वीडियो असली है और अशोक गहलोत ने यह बात बोली भी है, लेकिन यह बात गलती से उनके मुंह से निकल गई, जिसे उन्होंनेे बाद में सुधारा.

हमारी अपील

हमारी आपसे अपील है कि सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही फेक न्यूज के झांसे में ना आए. सोशल मीडिया बेवफा है इसलिए इस पर आई हर खबर को सच ना माने. किसी भी खबर पर भरोसा करने या शेयर करने से पहले उसे दूसरे सोर्स से वेरिफाई जरूर करें. फेक न्यूज समाज में नफरत और झूठ फैला रही है. यह हमारे समाज और देश के लिए खतरनाक है. इससे खुद भी बचाएं और अपने जानने वालों को भी बचाएं.

ये भी पढ़ें-

क्या कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने सच में राहुल गांधी के पैर छुए थे?

भाजपा सरकार की आलोचना करने पर पत्रकार को मिली एक साल की सजा

क्या कांग्रेस राज में भारत विश्व की 5 सबसे खराब अर्थव्यवस्थाओं में शामिल था?

Posted in Fact Check and tagged , , , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *