केमिकल के इस्तेमाल की वजह से कतर में बाबा रामदेव के प्रोडक्ट बैन

FACT CHECK : क्या केमिकल के इस्तेमाल की वजह से कतर में बाबा रामदेव के प्रोडक्ट बैन हो गए?

केमिकल के इस्तेमाल की वजह से कतर में बाबा रामदेव के प्रोडक्ट बैन? योग गुरू से प्रख्यात व्यापारी बने बाबा रामदेव एक बार फिर चर्चा में है. इस बार चर्चा उनकी कंपनी पतंजलि को लेकर है. दरअसल, सोशल मीडिया पर पतंजलि को लेकर एक चौंकाने वाला दावा किया जा रहा है. एक ट्विटर यूजर विवेक पांडे ने कतर सरकार के कथित आदेश को ट्वीट कर पतंजलि पर गंभीर सवाल उठाए है. पांडे ने कतर द्वारा पतंजलि उत्पातों को प्रतिबंधत करने का दावा किया है.

केमिकल के इस्तेमाल की वजह से कतर में बाबा रामदेव के प्रोडक्ट बैन

Image Source- Google

इस प्रतिबंध के पीछे उन्होंने रासायनों के अत्याधिक इस्तेमाल को कारण बताया है. साथ ही उसने आरोप लगाया कि भारतीय मीडिया इस खबर पर रिपोर्ट नहीं कर रहा, क्योंकि पतंजलि के विज्ञापन उनकी आय का मुख्य साधन है. इस ट्वीट को 3.3 हजार लाइक और इतने ही रीट्वीट मिले हैं. देखिये उनका यह ट्वीट-

वायरल दावे की पड़ताल-

हमने वायरल दावे की पड़ताल की. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पतंजलि उत्पादों को लेकर वायरल दावे पर पतंजलि ने एक बयान जारी किया है. पतंजलि प्रवक्ता तिजारवाना एस के ने ट्वीट कर कंपनी के उत्पादों पर कतर में प्रतिबंध लगने की खबरों को भ्रामक बताया है. उन्होंने कहा कि कतर सरकार ने पतंजलि से हलाल सर्टिफिकेट मांगा था और सर्टिफिकेट पेश किए जाने पर नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट जारी कर दिया.

हमने कतर सरकार की वेबसाइट पर पाया कि 30 मई 2018 से पतंजलि उत्पादों पर हलाल सर्टिफिकेट न होने के कारण प्रतिबंध लगाया गया था. इससे साफ है कि पतंजलि उत्पादों पर कतर सरकार द्वारा रसायन होने के कारण प्रतिबंध लगाने की खबर झूठी, फर्जी और आधारहीन हैं.

जिसकी हर जगह चर्चा है वो #MeToo क्या है? आसान भाषा में जानिये इससे जुड़ी सारी बातें

आपको बता दें कि पतंजलि ने कतर सरकार द्वारा उसके उत्पादों से प्रतिबंध हटाने वाला दस्तावेज जारी किया है. 1 अगस्त 2018 को कतर खाद्य सुरक्षा और पर्यावरण स्वास्थ्य विभाग के निदेशक द्वारा पतंजलि उत्पादों को अनापत्ति पत्र जारी कर दिया गया. इसके अलावा पतंजलि के पास जमात-उलेमा-ए-हिंद द्वारा जारी हलाल सर्टिफिकेट भी है.

ये भी पढ़ें-

क्या योगी आदित्यनाथ ने कहा, हमारा काम गाय बचाना है, लड़की नहीं?

विवेक तिवारी हत्याकांड : विवेक और सना को बदनाम करने के लिए वायरल की जा रही फर्जी अश्लील तस्वीर

वायरल फोटो की पड़ताल सीरीज : क्या रिक्शा खींचने वाली लड़की आईएएस है जो अपने पिता को रिक्शे में घूमा रही है

Posted in Fact Check and tagged , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *