केरल नन रेप केस

केरल नन रेप केस मामले के मुख्य गवाह की संदिग्ध हालत में मौत

केरल नन रेप केस में आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ गवाही देने वाले मामले के मुख्य गवाह फादर कुरियाकोस कट्टूथारा की मौत हो गई है. उनकी उम्र 62 साल थी. मीडिया रिपोर्ट्स कुरियाकोस का शव सोमवार को पंजाब के जालंधर में मिला. पुलिस अधिकारी ने बताया कि फादर कुरियाकोस दसुया के सेंट पॉल्स चर्च में रहते थे और वहीं से उनका शव बरामद किया गया है. उनके शरीर पर किसी चोट के निशान नहीं पाए गए हैं, लेकिन मौका-ए वारदात से ब्लड प्रेशर की गोलियां मिली हैं. वहीं उनके बिस्तर पर उल्टी करने के निशान हैं. मालूम पड़ता है कि मरने से पहले उनको बहुत ज्यादा उल्टियां हुई होंगी. बाकी पूरे केस की अभी जांच की जा रही है.

<

बता दें कि कुरियाकोस ने नन यौन उत्पीड़न के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ पुलिस में शिकायत की थी. फादर कुरियाकोस के परिवार वाले इस मौत को संदिग्ध मान रहे हैं. खबरे हैं कि उनको धमकियां मिल रहीं थीं. इस आरोप में गिरफ्तार हुए आरोपी बिशप को पांच दिन पहले ही केरल हाईकोर्ट से जमानत मिली है. केरल हाईकोर्ट ने कुछ शर्तों को निर्धारित किया है जिसमें बिशप फ्रैंको मुलक्कल केरल में प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी. इसके अलावा बिशप मुलक्कल को अपना पासपोर्ट भी अदालत के समक्ष सरेंडर करना होगा. जमानत मिलने के बाद मुलक्कल 17 अक्टूबर को ही जालंधर पहुंचा है.

केरल नन रेप केस का पूरा मामला क्या है?

आरोपी बिशप पर एक नन ने वर्ष 2014 से 2016 के बीच कई बार यौन शोषण का आरोप लगाया है. शिकायत के सौ से ज्यादा दिनों बाद बिशप की गिरफ्तारी न होने पर बीते दिनों ननों ने कई दिनों तक धरना प्रदर्शन किया था. उनका कहना था कि राजनीतिक तौर पर बिशप बहुत असरदार हैं. उनके पास ताकत है जो मेरी बहन के पास नहीं है. असरदार नेता उनका समर्थन कर रहे हैं. इस मामले की सीबीआई जांच की भी मांग उठी थी. बाद में दबाव के बाद पुलिस ने गिरफ्तार किया था.

क्या सुधीर चौधरी का यह दावा सही है कि सुभाष चंद्र बोस भारत के पहले प्रधानमंत्री थे?

अदालत ने इस मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने संबंधी याचिका पर भी सुनवाई की थी और कहा कि वर्तमान में इसकी अनुमति नहीं दी जा सकती.केरल की नन ने बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर 2014 से 2016 के बीच बार-बार यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। इसी समूह की पांच और नन ने पीड़िता का समर्थन किया है.

ये भी पढ़ें-

सबरीमाला मंदिर में जाने की कोशिश करने वाली रेहाना फातिमा कौन हैं जिन्हें मुस्लिम समाज से बाहर किया गया?

ALERT : पीएम मोदी के नाम पर शेयर हो रहा है झूठा दावा, यहां जानिये सच

Posted in Trending and tagged , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *