सानिया मिर्जा

टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा की वायरल फोटो का सच क्या है?

भारत की जानी-मानी टेनिस प्लेयर सानिया मिर्जा से जुड़ी एक फोटो शेयर की जा रही है. इस फोटो में सानिया की दो फोटो दी गई, जिसमें से एक में सानिया जीन्स पहने और दूसरे में हिजाब पहने नजर आ रही हैं. शेयर हो रही पोस्ट में जीन्स वाली फोटो को भारत और बुर्के वाली फोटो को पाकिस्तान की बताया जा रहा है. सानिया के कपड़ों का सहारा लेकर पोस्ट में सवाल पूछा जा रहा है कि क्या भारत अब भी असहिष्णु है? वहीं कुछ पोस्ट मे सानिया की हिजाब वाली फोटो को शेयर करते हुए लिखा है, ‘#भारत मे आधे कपड़ों में घूमने वाली
सानिया मिर्जा की #पाकिस्तान में दशा😂😂😂अब नही चाहिए आजादी??’ ये पोस्ट आप नीचे देख सकते हैं.

https://twitter.com/Sunitagupta__/status/1021805103949336576

उनकी यही फोटो 2014 में भी वायरल की गई थी. इसकी झलक आप नीचे दिए ट्वीट में देख सकते हैं-

https://twitter.com/rishibagree/status/469414048757325826

सानिया मिर्जा की वायरल फोटो की पड़ताल

इस फोटो को ट्वीटर के साथ-साथ व्हाट्सऐप पर भी शेयर किया जा रहा है. इसलिए हमने इस फोटो की पड़ताल की. पड़ताल करने के लिए हमने सबसे आसान तरीका गूगल रिवर्स सर्च अपनाया. गूगल पर सर्च करने पर हमें पता चला कि सानिया की यह फोटो सऊदी अरब की है. हमें पड़ताल में पता चला कि सानिया की जो फोटो पाकिस्तान की बताई जा रही है वह पाकिस्तान की ना होकर सऊदी अरब की है.

क्या है इलाहाबाद के कुंभ मेले की जगमगाती तस्वीर का सच?

दूसरी बात यह है कि सानिया की यह फोटो साल 2006 में ली गई थी. तब सानिया की शादी नहीं हुई थी. इस फोटो में सानिया अपनी मां के साथ नजर आ रही हैं. इससे जुड़ी खबर आप यहां क्लिक कर पढ़ सकते हैं. इसका स्क्रीनशॉट हम नीचे दे रहे हैं.

सानिया मिर्जा की वायरल फोटो

सानिया मिर्जा की वायरल फोटो का सच

सानिया की जिस फोटो को पाकिस्तान की बताकर शेयर की जा रही है वो फोटो सऊदी अरब में ली गई है. दूसरी बात यह कि यह फोटो 13 साल पुरानी है जब सानिया की शादी भी नहीं हुई थी. हम आपसे गलत संदर्भों में वायरल की जा रही फोटो पर भरोसा ना करने की अपील करते हैं.

हमारी अपील

हमारी आपसे अपील है कि सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही फेक न्यूज के झांसे में ना आए. सोशल मीडिया बेवफा है इसलिए इस पर आई हर खबर को सच ना माने. किसी भी खबर पर भरोसा करने या शेयर करने से पहले उसे दूसरे सोर्स से वेरिफाई जरूर करें. फेक न्यूज समाज में नफरत और झूठ फैला रही है. यह हमारे समाज और देश के लिए खतरनाक है. इससे खुद भी बचाएं और अपने जानने वालों को भी बचाएं.

ये भी पढ़ें-

क्या बुर्ज खलीफा पर राहुल गांधी की फोटो दिखाई गई थी? क्या है वायरल दावे की सच्चाई

अरविंद केजरीवाल के पोर्न वीडियो देखने के दावे की हकीकत क्या है? यहां जानिये पूरी कहानी

क्या तुर्की ने पीएम मोदी को सबसे महान नेता बताते हुए उनके सम्मान में टिकट जारी किया है?

Posted in Fake News and tagged , , , , , , , , , , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *