पाकिस्तान

पाकिस्तानः क्या पुलिस हिंदुओं के घरों में घुसकर अत्याचार कर रही है? जानिये, वायरल वीडियो की सच्चाई

फेसबुक पर पाकिस्तान का एक वीडियो शेयर किया जा रहा है. इस वीडियो के बारे में लिखा है, ‘इस विडियो को देखने के बाद आपकी भी आँखे भर जायेगी ,हो सके तो कुछ और लोगो को जगा देना’ साथ ही वीडियो के फ्रेम पर लिखा है, ‘देखें कि पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ क्या होता है.. हर हिंदुस्तानी इस वीडियो को देखकर शेयर जरूर करें.’

यह खबर लिखे जाने तक इस वीडियो को 1.4 मिलियन व्यूज मिल चुके थे और यह वीडियो 44 हजार से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका था. आप यह वीडियो देखिये, इसके बाद इसकी पड़ताल करते हैं.

पाकिस्तान में हिन्दुओ का हाल

इस विडियो को देखने के बाद आपकी भी आँखे भर जायेगी ,हो सके तो कुछ और लोगो को जगा देना

Posted by भा.ज.पा : Mission 2019 on Wednesday, January 2, 2019

क्या यह वीडियो असली है?

सोशल मीडिया पर अकसर फेक वीडियो वायरल होते रहते हैं. इसलिए पहला प्रश्न यह उठता है कि क्या यह वीडियो फेक है? हमारी पड़ताल में पता चला कि यह वीडियो फेक नहीं है. वीडियो असली है?

अरविंद केजरीवाल के पोर्न वीडियो देखने के दावे की हकीकत क्या है? यहां जानिये पूरी कहानी

क्या वीडियो के साथ किया जा रहा दावा सही है?

हमारी पड़ताल में पता चला कि यह वीडियो असली है, लेकिन इसके साथ किया जा रहा दावा फर्जी है. इस वीडियो और इसके साथ किए जा रहे दावे को पढ़कर लगता है कि पुलिस वाले पाकिस्तान में हिंदुओं के घरों में घुसकर जबरदस्ती करते हैं, लेकिन इस वीडियो के बारे में यह दावा झूठ है. असल में यह वीडियो पाकिस्तान के फैसलाबाद का है. यहां पर कुछ लोग बिजली कटौती का विरोध कर रहे थे. इस विरोध को दबाने के लिए प्रशासन ने विशेष बल भेजे थे. यह वीडियो उसी दौरान का है.

विशेष बलों के जवानों ने विरोध कर रहे लोगों और महिलाओं के साथ जबरदस्ती की थी. इसके लिए वहां के प्रशासन ने महिलाओं से बदसलूकी करने वाले विशेष बलों के 5 जवानों को सस्पेंड भी किया था. द क्विंट पर भी इससे जुड़ी रिपोर्ट पब्लिश हुई है.

क्या इस फोटो में नजर आ रही सेना अधिकारी रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की बेटी हैं?

वीडियो का सच

हमारी पड़ताल में पता चला कि फेसबुक पर शेयर किए जा रहे इस वीडियो का हिंदु-मुस्लिम से कुछ लेना-देना नहीं था, लेकिन इसे हिंदु-मुस्लिम एंगल से वायरल किया जा रहा है. जैसा हम आपको ऊपर बता चुके हैं कि यह बिजली के लिए प्रदर्शन कर रहे लोगों के विरोध प्रदर्शन के वीडियो को हिंदू-मुस्लिम एंगल दिया जा रहा है. हम आपसे अपील करते हैं कि सोशल मीडिया पर शेयर होने वाले फर्जी वीडियो और खबरों से बचकर रहें.

हमारी अपील

हमारी आपसे अपील है कि सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही फेक न्यूज के झांसे में ना आए. सोशल मीडिया बेवफा है इसलिए इस पर आई हर खबर को सच ना माने. किसी भी खबर पर भरोसा करने या शेयर करने से पहले उसे दूसरे सोर्स से वेरिफाई जरूर करें. फेक न्यूज समाज में नफरत और झूठ फैला रही है. यह हमारे समाज और देश के लिए खतरनाक है. इससे खुद भी बचाएं और अपने जानने वालों को भी बचाएं.

ये भी पढ़ें-

क्या कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने सच में राहुल गांधी के पैर छुए थे?

भाजपा सरकार की आलोचना करने पर पत्रकार को मिली एक साल की सजा

क्या कांग्रेस राज में भारत विश्व की 5 सबसे खराब अर्थव्यवस्थाओं में शामिल था?

Posted in Fake News and tagged , , , , , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *