भाजपा सरकार की आलोचना करने पर पत्रकार

भाजपा सरकार की आलोचना करने पर पत्रकार को मिली एक साल की सजा

मौजूदा सरकार की आलोचना करना पत्रकारों को भारी पड़ रहा है. एक तरह जहां मीडिया का एक बड़ा हिस्सा सरकार के चरणों में नतमस्तक हैं, वहीं कुछ मीडिया घराने और पत्रकार अब भी मजबूती से अपना फर्ज निभाते हुए सरकार से सवाल-जवाब कर रहे हैं. हालांकि इसकी सजा इन्हें भुगतनी पड़ रही है. सरकार की आलोचना करने पर कुछ पत्रकारों की नौकरी गई तो कुछ को जेल जाना पड़ा. ताजा मामला मणिपुर का है.

भाजपा सरकार की आलोचना करने पर पत्रकार

यहां के एक पत्रकार को सोशल मीडिया पर कथित तौर पर प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा की आलोचना करने पर जेल भेजा गया है. NDTV के मुताबिक, 39 वर्षीय किशोरचंद्र वांगखेम को फेसबुक पर वीडियो के माध्यम से राज्य के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह और प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना करने पर महीने पहले हिरासत में लिया गया था. हिरासत में लिए जाने के लगभग एक महीने बाद बीते मंगलवार को उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत एक साल जेल की हिरासत सुनाई गई है.

FACT CHECK: क्या पीएम मोदी ने एक भारतीय के लिए 10 घर बनाने की बात कही थी?

फेसबुक पर पोस्ट किए गए वीडियो में ये बोले थे किशोरचंद्र

NDTV की खबर के मुताबिक, किशोरचंंद्र ने झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का मणिपुर से कोई संबंध नहीं होने के बाद भी राज्य में उनकी जयंती पर कार्यक्रम के आयोजन के लिए बीरेन सिंह और प्रधानमंत्री मोदी को RSS की कठपुतली कहा था. किशोरचंद्र एक स्थानीय समाचार चैनल के साथ नौकरी करते थे. उन्होंने यह वीडियो पोस्ट करने से पहले नौकरी छोड़ दी थी.

रासुका में अधिकतम एक साल की सजा

किशोरचंद्र को रासुका के तहत सजा सुनाई गई है. इस कानून के तहत अधिकतम एक साल की सजा हो सकती है. माना जा रहा है कि उनका परिवार उनकी सजा को चुनौती देगा. वहीं उनकी गिरफ्तारी को लेकर सरकार की भी आलोचना की जा रही है. भारतीय पत्रकार संघ और प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया ने उनकी गिरफ्तारी की निंदा की थी.

ये भी पढ़ें-

क्या कांग्रेस राज में भारत विश्व की 5 सबसे खराब अर्थव्यवस्थाओं में शामिल था?

Fake News- झूठा है राजस्थान में जीत के बाद कांग्रेस की रैली में पाकिस्तान का झंडा फहराए जाने का दावा

क्या पूर्व RBI गवर्नर उर्जित पटेल ने नरेंद्र मोदी को सबसे ‘निकम्मा’ प्रधानमंत्री कहा?

Posted in Media and tagged , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *