क्या राहुल गांधी ने यह कहा है कि वे वोट बैंक के लिए नकली हिंदू बने हैं?

Rahul Gandhi fake statement – सोशल मीडिया पर झूठ को अलग-अलग रास्तों और सहारों से सच बनाकर पेश किया जा रहा है. अब सोशल मीडिया पर झूठ फैलाने के लिए मेनस्ट्रीम मीडिया के नाम का सहारा लिया जा रहा है. कुछ लोग एबीपी न्यूज की टेंपलेट पर राहुल गांधी के फर्जी बयान लिखकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर रहे हैं ताकि लोग एबीपी न्यूज का नाम और चैनल की टेंपलेट देखकर उसे सच मान लें. इसकी एक झलक नीचे देखिये-

Rahul gandhi fake statement

एबीपी न्यूज की टेंपलेट पर लिखकर राहुल गांधी के कुछ कथित बयान वायरल किए जा रहे हैं. सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही इस तस्वीर के मुताबिक, राहुल गांधी ने कहा है-
“मेरे पूर्वज मुस्लिम थे, मैं मुसलमान हूं- राहुल गांधी”
“कश्मीर पाकिस्तान को देना चाहिए- राहुल गांधी”
“हमारी सरकार बनते ही पाकिस्तान को 5 हजार करोड़ कर्ज देंगे बिना ब्याज 50 साल के लिए- राहुल गांधी”
“वोट बैंक के लिए मैं भी नकली हिंदू बना- राहुल गांधी”

सवाल पूछते साहसी पत्रकार जिम अकोस्टा और बौखलाते हुए राष्ट्रपति ट्रंप, जानें क्या-क्या हुआ व्हाइट हाउस में

राहुल गांधी के ये कथित बयान एबीपी न्यूज के नाम के सहारे सोशल मीडिया में वायरल किए जा रहे हैं. आज हम पड़ताल करेंगे कि क्या राहुल ने कभी ऐसे कोई बयान दिये थे और क्या एबीपी न्यूज ने ऐसी कोई खबर चलाई थी?

पड़ताल

इन दिनों 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं. इसलिए राहुल गांधी कई जगह रैलियों को संबोधित कर रहे हैं और हर रैली में दिए गए उनके भाषणों पर मीडिया की नजर रहती है. इसलिए हमने इंटरनेट पर यह जानने की कोशिश की क्या राहुल ने कहीं भी ऐसे बयान दिए हैं. हमारी पड़ताल में किसी भी न्यूज पोर्टल पर राहुल गांधी के ऐसे बयानों वाली न्यूज नहीं मिली.

क्या कांग्रेस IT हेड ने कहा, नेहरू ना होते तो सरदार पटेल को कोई सरकारी चपरासी की नौकरी भी नहीं देता?

इसके बाद हमने एबीपी न्यूज की साइट भी देखी, जिसके नाम के सहारे ये बयान वायरल किए जा रहे हैं. हमें वहां भी ऐसी कोई न्यूज नहीं दिखी. हालांकि ट्विटर पर एबीपी न्यूज का एक ट्वीट जरूर दिखा, जिसमें लिखा है कि एबीपी न्यूज के नाम पर झूठ फैलाया जा रहा है. एबीपी न्यूज ने इन तस्वीरों पर अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि कुछ लोग एबीपी के टेंपलेट का गलत इस्तेमाल कर झूठ फैला रहे हैं. एबीपी न्यूज ने कभी ऐसी खबरें नहीं चलाई. आप यह ट्वीट नीचे देख सकते हैं-

सच

हमारी पड़ताल में पता चला कि राहुल गांधी ने ऐसे कोई बयान नहीं दिये, साथ ही एबीपी न्यूज पर ऐसी कोई खबर नहीं चली. हमारी पड़ताल में वायरल तस्वीर या यूं कहिए कि ये बयान फर्जी साबित होते हैं. हम आपसे अपील करते हैं कि सोशल मीडिया पर आ रही हर खबर पर आंखें मूंदकर भरोसा ना करें.

ये भी पढ़ें-

क्या भविष्य की अमित मालवीय हैं दिव्या स्पंदना, निधि राजदान पर किए गए भद्दे कमेंट से तो यही लगता है

FACT CHECK : क्या पीएम मोदी ने कहा था कि नेहरू सरदार पटेल की अंतिम यात्रा में नहीं गए थे?

Posted in Fake News and tagged , , , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *