अनुपम सिद्धार्थ

#MeToo : जाने-माने मीडिया इंस्टीट्यूट सिंबोयसिस के डायरेक्टर के खिलाफ 106 छात्राओं ने यौन उत्पीड़न की शिकायत की

#MeToo अभियान में हर रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं. अब इसकी जद में देश का जाना-माना एजुकेशनल इंस्टीट्यूट सिंबोयसिस भी आ गया है. सिंबोयसिस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी के दो फैकल्टी मेंबर और छात्रों पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सिम्बायोसिस सेंटर फॉर मीडिया एंड कम्युनिकेशन (SCMC) के डायरेक्टर अनुपम सिद्धार्थ पर 106 छात्राओं ने अपने सिग्नेचर कर मैनेजमेंट में लिखित शिकायत दी है.

अनुपम सिद्धार्थ

मामला सामने आने के बाद अनुपम सिद्धार्थ को जांच पूरी होने तक छुट्टी पर भेज दिया गया है. शिकायत देने वाली छात्रों में मौजूदा स्टूडेंट्स के अलावा पूर्व छात्राएं भी शामिल हैं. इन्होंने डायरेक्टर पर यौन उत्पीड़न और दुर्व्यवहार के आरोप लगाए हैं.

FACT CHECK : क्या केमिकल के इस्तेमाल की वजह से कतर में बाबा रामदेव के प्रोडक्ट बैन हो गए?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सिम्बायोसिस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी के मुख्य निदेशक विद्या यरवडेकर ने कहा, “पहले से ही एक आंतरिक शिकायत समिति (आईसीसी) थी, जिसे अतीत में उठाए गए आरोपों को देखने के लिए बनाया गया था. पूर्व में दूसरे फैकल्टी के खिलाफ उत्पीड़न के मामलों में शिकायत पर निदेशक अनुपम सिद्धार्थ द्वारा कार्रवाई नहीं करने की बात भी सामने आयी है. हालांकि, इसके बीच हमें शिकायत पत्र भी मिली जिसमें 106 छात्रों ने हस्ताक्षर किए थे अनुपम सिद्धार्थ को काफी अनुशासनात्मक माना जाता था, लेकिन कुछ आरोप चौंकाने वाले थे और हमने तुरंत इसे आईसीसी को रेफर किया संदर्भित किया.”

#MeToo क्या है?

साल भर पहले दुनियाभर में चर्चा का विषय बना #MeToo अब भारत में दस्तक दे चुका है. भारत में बॉलीवुड, मीडिया जैसे क्षेत्रों से कई महिलाएं सामने आकर #MeToo के साथ अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न की बातें सामने रख रही हैं. भारत में बॉलीवुड, मीडिया से होता हुआ यह अभियान राजनीति तक पहुंच गया है.

बॉलीवुड में सबसे पहले तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर यौन शोषण के आरोप लगाए. नाना के बाद बॉलीवुड में सिंगर कैलाश खेर, डायरेक्टर विकास बहल, एक्टर रजत कपूर, एक्टर आलोक नाथ जैसे बड़े नाम मीटू अभियान के साथ उजागर हुए हैं. इनके अलावा कॉमेडी ग्रुप एआईबी में काम करने वाले एक कॉमेडियन पर भी आरोप लगे हैं.

ये भी पढ़ें-

महिला पत्रकार की शानदार पहल, अब एक ही जगह मिलेगी #MeToo के सारे मामलों की जानकारी

#MeToo अभियान पर लिखे अपने आर्टिकल में वरिष्ठ पत्रकार तवलीन सिंह ने बोला झूठ

 

Posted in Trending and tagged , , , , , , , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *