ALERT : सोशल मीडिया पर शेयर हो रही है बीजेपी सांसद के नाम पर फेक न्यूज

कुछ दिन पहले गुजरात से उत्तर भारतीय लोगों के पलायन का मुद्दा गरम था. यहां एक बच्ची के बलात्कार के मामले में बिहार से आए एक मजदूर का नाम सामने आया था. इसके बाद से ही उत्तर भारत (उत्तर प्रदेश और बिहार) और मध्य प्रदेश जैसे हिंदी भाषी राज्यों के लोगों को वहां के स्थानीय लोग निशाना बना रहे हैं. उत्तर भारतीयों पर हिंसक हमले हुए हैं. इसके कारण लगभग 50 हजार से अधिक उत्तर भारतीयों को प्रदेश से पलायन करने को मजबूर होना पड़ा था. अब रमेश बिधूड़ी का ऐसा ही बयान वायरल हो रहा है.

इसके बाद दिल्ली से बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी के एक कथित बयान वाली फर्जी न्यूज कटिंग सोशल मीडिया में वायरल हुई. इस न्यूज की हेडिंग ‘अब यूपी बिहार के लोगों को दिल्ली से भी भगा देना चाहिए- रमेश बिधूड़ी’ है. पहली नजर में देखने पर यह न्यूज कटिंग सही दिख सकती है, लेकिन ऐसा नहीं है.

रमेश बिधूड़ी

रमेश बिधूड़ी के नाम पर वायरल हो रही फेक न्यूज

रमेश बिधूड़ी के बयान की पड़ताल

इस न्यूज कटिंग को दक्षिणी दिल्ली संवाददाता बायलाइन के साथ छापा गया है, लेकिन यह किस अखबार की कटिंग है यह बता पाना मुश्किल है. सोशल मीडिया पर शेयर हो रही न्यूज पेपर की इस कटिंग को लेकर खुद रमेश बिधूड़ी ने बयान दिया है. उन्होंने इस न्यूज कटिंग को फेक बताया है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि उन्होंने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है. उनके ये ट्वीट आप नीचे देख सकते हैं-

जिसकी हर जगह चर्चा है वो #MeToo क्या है? आसान भाषा में जानिये इससे जुड़ी सारी बातें

उनके अलावा दिल्ली बीजेपी ने भी इस फेक न्यूज को लेकर ट्वीट किया है. इसमें लिखा गया है, ‘कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा सोशल मीडिया पर चलाई जा रही इस ख़बर का दिल्ली भाजपा खंडन करती है। यह ख़बर पूरी तरह झूठी और निराधार है और एक सोची समझी साज़िश के तहत अपनी राजनीति के लिए समाज को बाँटने वालों द्वारा फैलाई जा रही है। इसका भाजपा या उसके किसी नेता से कोई सम्बंध नहीं है।’ देखिये यह ट्वीट-

बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब किसी न्यूज पेपर की कटिंग से मिलती-जुलती फोटो को वायरल किया जाता है. इससे पहले भी कई बार ऐसा हो चुका है. हम आपसे अपील करते हैं कि सोशल मीडिया पर वायरल होने वाली हर फोटो, न्यूज और वीडियो पर भरोसा ना करें. वे झूठ भी हो सकते हैं. इसलिए सोशल मीडिया पर मिले किसी भी फोटो, न्यूज या वीडियो को शेयर करने के पहले वेरिफाई जरूर कर लें.

ये भी पढ़ें

गुजरात पलायन: असली जिम्मेदार कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर, लेकिन जवाबदेही तो रुपाणी-मोदी सरकार की भी है

#MeToo अभियान पर लिखे अपने आर्टिकल में वरिष्ठ पत्रकार तवलीन सिंह ने बोला झूठ

Posted in Fake News and tagged , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *