FACT CHECK : क्या योगी सरकार न्यूज पोर्टल और वेबसाइट में काम करने वाले पत्रकारों को पत्रकार नहीं मानती

क्या योगी सरकार न्यूज पोर्टल और वेबसाइट में काम करने वाले पत्रकारों को पत्रकार नहीं मानती ? सोशल मीडिया पर आजकल यूपी सरकार के आदेश से जुड़ी अखबार की कतरन वायरल हो रही है. इसके मुताबिक, योगी सरकार ने न्यूज़ पोर्टलों-वेबसाइटों में काम करने वाले संपादकों और रिपोर्टरों को पत्रकार मानने से इनकार कर दिया है. इस न्यूज की हेडलाइन ‘सरकार पोर्टल और वेबसाइट के लोगों को नहीं मानती पत्रकार’ है. यह कतरन आप नीचे देख सकते हैं.

क्या योगी सरकार न्यूज पोर्टल और वेबसाइट में काम करने वाले पत्रकारों को पत्रकार नहीं मानती

Image Source- satyagrah

सोशल मीडिया पर यह न्यूज काफी वायरल हो रही है. हमने इस खबर में किए गए दावे की पड़ताल करने के इंटरनेट पर सर्च किया. इस दौरान हमें हिंदी न्यूज पोर्टल सत्याग्रह की एक खबर मिली. इस खबर के मुताबिक, सोशल मीडिया में वायरल हो रही यह क्लिप फर्जी है. किसी सरकार ने ऐसा कोई बयान जारी नहीं किया है.

परिवार के लिए रिक्शा खींचने वाली लड़की के बाद ऐसे ही लड़के की तस्वीर वायरल, जानें सच्चाई

साथ ही कतरन में जिन अवनीश अवस्थी के नाम से यह आदेश जारी होने की बात लिखी गई है, खुद उन्होंने इस खबर को फर्जी बताया है. उन्होंने इस वायरल कतरन के संबंध में एक ट्वीट कर इसे बिल्कुल फर्जी बताया है. आप उनका यह ट्वीट नीचे देख सकते हैं.

सोशल मीडिया पर फैले झूठ पर ना करें भरोसा

आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर समय-समय पर फेक तस्वीरें वायरल होती रहती हैं. फेक न्यूज, फेक फोटो और फेक वीडियो को वायरल करने का यह काम खास एजेंडे के तहत किया जाता है. आजकल फेक न्यूज का असर इतना बढ़ गया है कि यह लोगों की जान लेने लगा है. इसलिए हम आपसे अपील करते हैं कि सोशल मीडिया पर आने वाले झूठ पर यकीन ना करें. सोशल मीडिया पर मिली किसी भी न्यूज, फोटो और वीडियो पर भरोसा करने, शेयर या फॉरवर्ड करने से पहले उसे एक बार वेरिफाई जरूर कर लें.

ये भी पढ़ें-

क्या राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश में मंदिर में जाकर नमाज पढ़ी थी?

वायरल फोटो की पड़ताल : महिला के साथ पीएम मोदी की इस फोटो की असलियत क्या है?

Posted in Fact Check and tagged , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *