बरखा दत्त

क्या वायरल तस्वीर में शराब और सिगरेट पीते हुए दिख रही महिला बरखा दत्त हैं?

फेसबुक पर कई दक्षिणपंथी पेजों और प्रोफाइल्स पर दो महिलाओं की शराब और सिगरेट पीते हुए की तस्वीर शेयर की जा रही है. इसमें दिख रही महिलाओं के बारे में दावा किया जा रहा है कि इनमें एक मशहूर पत्रकार बरखा दत्त हैं. तस्वीर के साथ वायरल पोस्ट में लिखा हुआ है, ‘कांग्रेस को समर्थन देने वाली NDTV की पत्रकार बरखा दत्त और संगीता घोष. ये मोदीजी और RSS को गाली देने का रिकॉर्ड बना चुकी हैं.’ साथ ही लोगों को बरखा दत्त की असलियत दिखाने के लिए फोटो को ज्यादा से ज्यादा शेयर करने की अपील की गई है. देखिए वायरल तस्वीर और पोस्ट.

बरखा दत्त

वायरल तस्वीर

इस तस्वीर को कई निजी प्रोफाइल्स के अलावा ‘Namo Fan (मोदी समर्थक)’ नामक पब्लिक ग्रुप पर शेयर किया गया है. इसके अलावा इस तस्वीर को ‘RSS- कट्टर हिंदू’ नामक ग्रुप पर भी शेयर किया गया है.

हमने इस तस्वीर की पड़ताल की तो क्या सामने आया, आइए जानते हैं. पहली बात ये कि बरखा दत्त के अलावा जिस महिला पत्रकार के बारे में वायरल तस्वीर में बात की जा रही है, उनका नाम संगीता घोष नहीं बल्कि सागरिका घोष है. दूसरी बात ये कि तस्वीर में दिख रही महिलाएं बरखा दत्त और सागरिका घोष नहीं हैं.

यह तस्वीर पहले भी वायरल हो चुकी है. तब भी इस तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा था कि यह बरखा दत्त की तस्वीर है.

पिछली बार जब ये तस्वीर वायरल हुई थी, तब खुद बरखा दत्त ने ट्वीट कर इसकी सच्चाई बताई थी. 21 मई 2016 को बरखा ने ट्वीट करते हुए लिखा था, ‘ये मेरी नहीं बल्कि किसी और की तस्वीर है. लेकिन अगर ये मेरी तस्वीर भी होती तो आप किस चीज के लिए हमला कर रहे हैं- महिला जो सिगरेट और शराब पीती है?’

हमारी जांच में बरखा दत्त की शराब पीते हुए की यह तस्वीर फेक पाई गई है. यह उनकी नहीं बल्कि किसी और महिला की तस्वीर है. यह तस्वीर उनकी छवि को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से शेयर की जा रही है.

पढ़ें- सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन के मौके पर हंगामा, मनोज तिवारी पर हाथापाई का आरोप

नोट- तस्वीर में दिख रही महिला चाहे कोई भी हो, हमारा मानना है कि किसी भी महिला पर केवल शराब और सिगरेट पीने के लिए सवाल नहीं उठाए जा सकते. अगर एक पुरुष के लिए शराब और सिगरेट का सेवन ठीक है तो यह महिलओं के लिए भी ठीक है. महिला और पुरुषों को मापने के दो अलग पैमाने नहीं हो सकते.

पढ़ें- आम आदमी पार्टी ने सिग्नेचर ब्रिज के नाम पर शेयर की नीदरलैंड के ब्रिज की फोटो

पढ़ें- राष्ट्रपति बनने के बाद अपने भाषणों में 6420 बार झूठ बोल चुके हैं डोनाल्ड ट्रंप

पढ़ें- क्या रांची में पकड़े गए 10 हजार सिम NOTA दबाने की मुहिम चलाने के लिए खरीदे गए थे?

Posted in Fake News and tagged , , , , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *